शनिवार, 11 सितंबर 2010

प्रियंका और रणवीर से मिलने का मौका वो भी सिर्फ 30 रूपये में 30 दिन ,ऑफर 16 सितम्बर तक ....?

जब तक ऐसे लोगों के खिलाप जाँच को बेवजह लम्बा खीचकर भ्रष्टाचार को संरक्षित किया जाता रहेगा ,इस देश की जनता को हर तरफ खुलेआम लूटा जाता रहेगा | जरूरत है भ्रष्ट मंत्रियों के खिलाप जाँच को  हर-हाल में 180 दिनों के अन्दर पूरी कर दोषी मंत्रियों को सरे आम फांसी की सजा देने की |


संचार मंत्रालय के मंत्री और अधिकारी भ्रष्टाचार में लिप्त होकर अरबपति बन रहें हैं ,TRI की तो उपयोगिता ही ख़त्म हो चुकी है ये अब मोबाईल कंपनियों को जनता के हितो में काम करने के लिए निर्देश देने के वजाय जनता को लूटने का निर्देश दे रही है | तभी तो अब आप ग्राहक सेवा केंद्र में बात करने के लिए भी शुल्क चुकायेंगे और मोबाईल कंपनियों के इस प्रस्ताव को TRI ने भी हरी झंडी दिखा दिया है | जरा सोचिये कोई ग्राहक ,ग्राहकसेवा केंद्र में कब बात करता है ? तब-जब उसे कोई शिकायत या सेवा सम्बंधित जानकारी चाहिए होती है या वह दुखी होता है किसी मोबाईल कंपनी के ठगी रुपी सेवा से | ऐसे में उनसे इस बात के लिए तब पैसे उसूलना कितना जायज है जब मोबाईल कम्पनियाँ काल दर कम से कम करने में लगी हुयी है | सबसे अचम्भा TRI के मंजूरी देने के रवैये पे होता है जो मोबाईल कंपनियों द्वारा आये दिन ग्राहकों को बेबकूफ बनाकर लूटने और ठगने  को तो रोक नहीं पा रही है ,लेकिन इन मोबाईल कंपनियों द्वारा ग्राहकों के खिलाप लाये गये प्रस्ताव को मंजूरी तुरंत दे देती है | TRI के ऐसे ही रवैये से मोबाईल कंपनिया भ्रमित करने वाले विज्ञापन ग्राहकों को भेजकर सरेआम ठग रही है और ठगती रहेगी | 


एयरटेल के एक विज्ञापन को देखिये जिसमे वह प्रियंका और रणवीर से मिलने का मौका तीस रूपये में तीस दिन का ऑफर देकर लोगों को बेबकूफ बनाकर ठगने का प्रयास कर रही है | दरअसल अब मोबाईल कम्पनियाँ नहीं ठग रही है बल्कि संचार मंत्रालय और TRI के भ्रष्ट मंत्री और अधिकारी इनको ठगने के लिए प्रेरित कर रही है |



ये विज्ञापन मेरे मोबाईल नंबर -9810752301 से 123 नंबर डायल करने पर अपना बेलेंस चेक करने के जवाब में दिनांक-11/10/2010 17:55 पे SMS के रूप में आया है ....प्रस्तुत है उस SMS की पूरी फोटो कॉपी  आप लोगों की सेवा में ...

Balance-Rs 161.57,Validity-jul 05 2012,local A2Amin:0.00,Call Bal:Rs 0.00,Priyanka/Ranbir se milne ka mouka 16-Sep tak! Dial@ 51010(Rs 30/30Din)  17:55 11/10/2010 


TRI की उपयोगिता जनहित में कम और मोबाईल कंपनियों के हित में ज्यादा साबित हो रही है ,अतः इसे बंद कर दिया जाय और इसकी जगह पर उपभोक्ताओं के जरूरत और शिकायतों के सर्वे को आधार बनाकर मोबाईल कंपनियों को रेगुलेट किया जाय ...

अब आप लोग खुद अंदाजा लगाइये की  Priyanka/Ranbir se milne ka mouka 16-Sep tak! Dial@ 51010(Rs 30/30Din)  इसका क्या मतलब निकलता है | क्या ये खुलेआम ठगी और चार सौ बीसी नहीं है ....? सरकार और सरकार में बैठे भ्रष्ट लोगों का इस तरह का दलाली भरा रवैया शर्मनाक है इस देश और समाज के लिए पूरी की पूरी अर्थ व्यवस्था ठगी पे आधारित होती जा रही है |




5 टिप्‍पणियां:

  1. बहुत अच्छी जगरूक करती पोस्ट।

    आपको और आपके परिवार को तीज, गणेश चतुर्थी और ईद की हार्दिक शुभकामनाएं!
    फ़ुरसत से फ़ुरसत में … अमृता प्रीतम जी की आत्मकथा, “मनोज” पर, मनोज कुमार की प्रस्तुति पढिए!

    उत्तर देंहटाएं
  2. जब हम मोबाईल कम्पनियों से शिकायत करेंगे तो उसका कोई चार्ज नहीं लगेगा इसके अलावा कोई बात करने पर पैसा लगेगा | इससे नुकसान कंपनियों को भी होगा जब लोग उनकी नई स्कीम के बारे में पूछ ताछ कम कर देंगे | इंतजार कीजिये वो खुद इसे वापस लेंगे | रही बात लुटने की तो उनके पास इसके लिए हजारो तरीके है अब किस किस की बात की जाये |

    उत्तर देंहटाएं
  3. ji bilkul sahi kam kar rahe hai aap.We should not take interest in the promotion ads, offers, any others ads etc. only to talk and receive a call. Thats all.
    one incident with me happen on before some days-- i recharge my mobile but its could not get balance. after waiting for a long time for responce from cust care ,result is nil. also in two contineous month my mobile get activated for shyri package without my knowledge. so due to all sits i wrote a e- mail to nodal officer of service provider ( copy to TRAI and RTI officer of service provider ) , stating that if within 2 days i will not get my problem solve, i will come with RTI aplicatin. I do this mail at 1030 PM and early morning 1000 AM Nodal officer call me and assure for that and my problem solved within the time. So its not time to run behind cust care, act to something more.

    उत्तर देंहटाएं
  4. मैं आपसे पूरी तरह से सहमत हूँ ... टेलीफोन कम्पनियाँ
    हर तरह से लोगों को लूट रही है. ये लूट जल्द से जल्द बंद होनी चाहिए.

    उत्तर देंहटाएं
  5. सार्थक लेखन के लिये आभार एवं "उम्र कैदी" की ओर से शुभकामनाएँ।

    जीवन तो इंसान ही नहीं, बल्कि सभी जीव भी जीते हैं, लेकिन इस मसाज में व्याप्त भ्रष्टाचार, मनमानी और भेदभावपूर्ण व्यवस्था के चलते कुछ लोगों के लिये यह मानव जीवन अभिशाप बना जाता है। आज मैं यह सब झेल रहा हूँ। जब तक मुझ जैसे समस्याग्रस्त लोगों को समाज के लोग अपने हाल पर छोडकर आगे बढते जायेंगे, हालात लगातार बिगडते ही जायेंगे। बल्कि हालात बिगडते जाने का यही बडा कारण है। भगवान ना करे, लेकिन कल को आप या आपका कोई भी इस षडयन्त्र का शिकार हो सकता है!

    अत: यदि आपके पास केवल दो मिनट का समय हो तो कृपया मुझ उम्र-कैदी का निम्न ब्लॉग पढने का कष्ट करें हो सकता है कि आप के अनुभवों से मुझे कोई मार्ग या दिशा मिल जाये या मेरा जीवन संघर्ष आपके या अन्य किसी के काम आ जाये।
    http://umraquaidi.blogspot.com/

    आपका शुभचिन्तक
    "उम्र कैदी"

    उत्तर देंहटाएं