रविवार, 17 अक्तूबर 2010

U.P पुलिस का एक और शर्मनाक कारनामा....जबकि प्रदेश की मुख्यमंत्री महिला हैं और देश का राष्ट्रपति भी एक बृद्ध महिला.......

गाजीपुर के नंदगंज थाने के भीतर बिना अपराध जबरन बंधक बनाकर रखी गईं महिलाएं : लाल साड़ी में खड़ी श्री यशवंत सिंह की मां , पैर व कूल्हे में दिक्कत के कारण लेटी हुईं चाची, बैठी हुईं दो स्त्रियों में चचेरे भाई की पत्नी हैं. एक अन्य दूसरे आरोपी की मां हैं...


देश में महिलाओं के साथ खासकर बृद्ध महिलाओं के साथ पुलिस का व्यवहार कैसा शर्मनाक और कायरता पूर्ण है इस बात का अंदाजा आप U.P के गाजीपुर जिले के नंदगंज थाने के पुलिस के व्यवहार से लगा सकते है जहाँ एक बृद्ध महिला को उसके भतीजे के अपराधी होने के चलते 12 घंटे तक थाने में बंधक बनाकर रखा गया ...ये सिर्फ किसी एक मां की समस्या नहीं बल्कि उन करोड़ों माओं की समस्या है जो इस देश के गांवों में रहती है | 

निश्चय ही पुलिसिया इतिहास में इसे सबसे शर्मनाक घटना  कहा  जा  सकता  है खासकर तब  जब  प्रदेश की मुख्यमंत्री महिला हो और देश का राष्ट्रपति एक बृद्ध महिला |


पूरी घटनाक्रम के लिए निम्नलिखित लिंक पर जाकर पढ़ें और ऐसे पुलिसिया अत्याचार के खिलाप आवाज को तबतक बुलंद करें जब तक पुलिस बृद्ध महिला से लिखित में माफ़ी मांगे या ऐसे पुलिस वालों के खिलाप कार्यवाही ना हो जाय ...


http://www.bhadas4media.com/dukh-dard/6969-2010-10-16-11-26-00.html

http://www.bhadas4media.com/dukh-dard/6980-2010-10-17-09-05-00.html

http://www.bhadas4media.com/dukh-dard/6982-2010-10-17-09-56-04.html

10 टिप्‍पणियां:

  1. शिक्षा और जागरूकता का प्रसार ही एकमात्र उपाय है।

    उत्तर देंहटाएं
  2. मन इतना दुखी होता है यह सब पढ़कर कि फिर अगले कई दिनों तक कुछ करने को जी नहीं चाहता।

    उत्तर देंहटाएं